पश्चिम बंगाल में हड़ताली सहयोगियों का समर्थन करने के लिए डॉक्टरों ने अखिल भारतीय हड़ताल रखी - Vice Daily

Page Nav

HIDE

Grid Style

GRID_STYLE

Post/Page

Weather Location

Breaking News:

latest

पश्चिम बंगाल में हड़ताली सहयोगियों का समर्थन करने के लिए डॉक्टरों ने अखिल भारतीय हड़ताल रखी

देश भर के कई सरकारी और निजी अस्पतालों में हेल्थकेयर सेवाओं में भारी बाधा आई है क्योंकि पश्चिम बंगाल में अपने सहयोगियों के समर्थन में डॉक्टरों के स्कोर एक दिन के लिए कार्य बहिष्कार कर रहे हैं और हड़ताल पर गए हैं। पश्चिम बंगाल में…








देश भर के कई सरकारी और निजी अस्पतालों में हेल्थकेयर सेवाओं में भारी बाधा आई है क्योंकि पश्चिम बंगाल में अपने सहयोगियों के समर्थन में डॉक्टरों के स्कोर एक दिन के लिए कार्य बहिष्कार कर रहे हैं और हड़ताल पर गए हैं। पश्चिम बंगाल में जूनियर डॉक्टर 11 जून से हड़ताल पर हैं, जब उनके दो सहयोगियों पर कोलकाता के एनआरएस मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में एक मरीज की मौत हो जाने के बाद हमला किया गया।

दबाव के कारण, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को राज्य सचिवालय नबना में दोपहर 3 बजे जूनियर डॉक्टरों के एक प्रतिनिधिमंडल से मिलने के लिए बुलाया। पश्चिम बंगाल के सीएम ने जूनियर डॉक्टरों की खुली बैठक की मांग को स्वीकार कर लिया है। 14 महाविद्यालयों (28 व्यक्तियों) के दो चिकित्सा प्रतिनिधि मुख्यमंत्री से मुलाकात कर गतिरोध को समाप्त करेंगे। बैठक में मुख्य सचिव, अतिरिक्त और प्रमुख सचिव स्वास्थ्य और निदेशक, चिकित्सा शिक्षा भी भाग लेंगे।

जहां लखनऊ में हड़ताल पर 10,000 डॉक्टरों के साथ, लखनऊ में स्वास्थ्य सेवाओं को सोमवार को अपंग कर दिया गया वहीं दिल्ली में केंद्र द्वारा संचालित सफदरजंग अस्पताल, लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज और अस्पताल, आरएमएल अस्पताल के साथ-साथ दिल्ली सरकार ने जीटीबी अस्पताल, डॉ बाबा साहेब अम्बेडकर अस्पताल, संजय गांधी मेमोरियल अस्पताल और दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल जैसी सुविधाएं प्रदान की हैं ताकी वह हड़ताल में शामिल हों। इन अस्पतालों में आपातकालीन और आकस्मिक सेवाएं कार्य करना जारी रखेंगी।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन पश्चिम बंगाल में हिंसा के खिलाफ डॉक्टरों की हड़ताल के समर्थन में आज दोपहर 12 बजे से कल सुबह 6 बजे तक हड़ताल पर रहेगा। कैजुअल्टी, आईसीयू और लेबर रूम सहित आपातकालीन सेवाओं को जारी रखा जाए।

No comments